धन्यवाद

ईश्वर की  दुनियाँ में आपका स्वागत है  |
   मुस्कुराइए और प्रवेश करियें   |
अपने आप को आश्चर्यचकित करें  | 
अपनी आध्यात्मिक शक्तियों को जागृत करें तथा खुशियों के परमाणुओं को  स्वयं  में विस्फोटित होने दें | इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि दुःख है ,पीड़ा है  |
   अपने अस्तित्व को मुस्कुराने दें,हसने दें खिलखिलाने दें .......

Comments

Popular posts from this blog

साँसे और आध्यात्मिकता ( Management of breathing and spirituality) पार्ट - 1

कान्वेंट स्कूल के फंदे

After Knowing This , You will Never Walk Alone